गुरुवार, 6 नवंबर 2008

पहचान असली शहद की, कुछ जानकारियों के साथ

शहद, एक हल्का पीलापन लिये हुए बादामी रंग का गाढ़ा तरल पदार्थ है। वैसे इसका रंग-रूप, इसके छत्ते के लगने वाली जगह और आस-पास के फूलों पर ज्यादा निर्भर करता है। यह एक पूर्ण तथा सुपाच्य खाद्य है। यह इतना निरापद है कि इसे नवजात शिशु को भी दिया जा सकता है। किसी भी घाव, चोट, खरोंच या किसी कीड़े के काटने पर इसे मल्हम की तरह लगा सकते हैं। आंखों में इसे किसी सलाई से सुरमे की तरह लगाया जा सकता है। थोड़ा लगता जरूर है, पर आंखों में चमक आ जाती है। उन्हें कमजोर होने से बचाता है। विश्वास के साथ इस लिए कह पा रहा हूं क्योंकि मैं खुद इसका उपयोग करता रहता हूं।
हमारे यहां जहां मुनाफे के लिए हर चीज में मिलावट होती है, वहां यह भी कहां बचा रह सकता है। भाई लोग शीरे को बिना हिचक इसमें मिला कर लोगों की सेहत से खिलवाड़ करते रहते हैं। इससे बचने के लिए असली शहद की पहचान कुछ ऐसे की जा सकती है -
1 :- असली शहद की एक बूंद को पानी से भरे गिलास में टपकायें। पूरी की पूरी बूंद तले तक जायेगी। जबकी             नकली शहद पानी से टकराते ही बिखर जायेगा।
2 :- रुई की बत्ती बना उसे शहद में डुबो कर जलायें, वह मोमबत्ती की तरह जलती रहेगी।
3 :- अखबार या कपड़े पर शहद की बूंद गिरा कर पोछ दें, सतह उसे सोखेगी नहीं। जबकी नकली, कपड़े या               कागज में जज्ब हो जायेगा।
4:- असली शहद पर मक्खी बैठ कर उड़ जायेगी जबकी नकली में वहीं फंस कर रह जाती है।
5 :- असली शहद कुत्ता नहीं खाता।
शहद हालांकि गुणों की खान है। फिर भी कुछ सावधानियां जरूर बरतनी चाहियें। जैसे इसे कभी गर्म कर ना खायें। गर्मी से पीड़ित मनुष्य के लिए भी यह हानीकारक होता है। इसके साथ बराबर मात्रा में घी, कमलगट्टा तथा वर्षा का पानी कभी भी नहीं लेना चाहिये। बस, तो ठंड आ रही है इस दिव्य पदार्थ का सेवन करें और सब से कहलवायें ," आप की उम्र का तो अंदाज ही नहीं लगता"

22 टिप्‍पणियां:

mehek ने कहा…

waah mithe shahad ki asli pehchan ki jankari achhi rahi shukriya

अल्पना वर्मा ने कहा…

pahchaan mein 1 aur 4 to maluum tha--baqi tests aaj pata chale-dhnywaad--

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

बढ़िया जानकारी

PN Subramanian ने कहा…

अच्छी जानकारी दी है. आभार. क्या कुत्ते के लिए इसका खाना हानिकारक है? मैने इसलिए पूछा क्योंकि बीमारी में गोली को पीस कर हम शहद में मिलाकर अपने कुत्ते को खिलाते थे. कुत्ता मर गया!
http://mallar.wordpress.com

जितेन्द़ भगत ने कहा…

जानकारी के लि‍ए शु्क्रि‍या।

Alag sa ने कहा…

subramanian ji,
नमस्कार।
जहां तक कुत्तों का शहद ना खाने की बात है, तो वे प्राकृतिक रूप से इसे नापसंद करते हैं। शहद के प्रयोग से किसी दुर्घटना की जानकारी नहीं है। हो सकता है आपके पालतू की मौत की वजह उसकी बिमारी हो। आपने तो उसकी भलाई के लिए ही दवा दी थी। अपने मन में किसी तरह का अपराध बोध ना लाएं।
अपने ब्लागर परिवार में किसी को जानकारी हो तो कृपया बताएं।

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत बहुत धन्यवाद, लेकिन हमारे यहां १००% शुद्ध शहद मिलता है, ओर यहां मिलावट करने वाले कॊ मिट्टी मै मिला दिया जाता है यानि इतना जुरमान किया जाता है कि वो भिखारी बन जाता है इस लिये कोई मिलावट करने की हिम्मत नही करता, भारत से आने वाली चाय का स्बाद यहां बिलकुल अलग होता है.
आप ने अपने लेख मै बहुत ही अच्छी जान्कारी दी , ओर मै कल ही इसे कर के देखता हु,

Udan Tashtari ने कहा…

बहुत अच्छी जानकारी दी, आभार!!

Alag sa ने कहा…

भाटिया जी, यही तो विडंबना है। हम पश्चिम की बुराईयों की तो अंधाधुंध नकल करते हैं, पर उसकी अच्छाईयों से मुंह फेर लेते हैं। यहां आधी से ज्यादा बिमारियां तो नकली और अशुद्ध आहार के कारण होती हैं।

seema gupta ने कहा…

wah, winters mey to bhut kaam aata hai, accha lgee jankaree.."

Regards

रंजना [रंजू भाटिया] ने कहा…

बहुत अच्छी जानकारी दी है आपने ..शुद्ध शहद की पहचान के बारे में

बेनामी ने कहा…

I was told that the shahad sould not be given to child less than a year age

namit ने कहा…

अच्छी जानकारी दी है. शहद me pipersent milaya jata hai jo sahad ke tarah hi work karta hai

LALIT SHARMA ने कहा…

THANK YOU SIR.

LALIT SHARMA ने कहा…

ASLI SHAHAD KAHAN SE MILEGA ADD. HO TO ZAROOR BATANA.
THANK'S

Unknown ने कहा…

धन्यवाद बहुत सुन्दर। क्या ये सभी परीक्षण में खरा उतरने पर शहद 100% शुद्ध होगा?

nazi khan ने कहा…

Asli honney agar 1 year old hai to kya wo danay daar thoda ghaadha ho jaata hai jabki dabur ka lao to jitna bhi purana ho jamta nahi hai.

Karan Pancholi ने कहा…

जैसे इसे कभी गर्म कर ना खायें। गर्मी से पीड़ित मनुष्य के लिए भी यह हानीकारक होता है!
Sir Me Ye Pu6 rha Tha ki ye sentence me aap kya kehna chahte he
Iska matlab ye he ki agar hamari body me jyada garmi ho jyada pasina or garmi mehsus hoti ho to honey khana hani karak he?

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

कर्ण जी, शहद को गर्म नहीं करना चाहिए। वैसे यह सर्दियों में ज्यादा लाभकारी होता है।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

@Unknown.....
we hope so !

Md.Musheer ने कहा…

Gagan ji namskar

Main shahed use kar raha hoon jo ke winter se pehle jama nahi tha but winter shuru hone ke baad woh jamne laga hai or dane daar hogaya hai kiya yeh nakli shahed hai or raat ko main doodh ko garm karke us main shahed mila kar leta hoon kiya aisa karna theek hai koi nuksan to nahi pls reply me thanks for ur information u shared

भंवर लाल चौधरी ने कहा…

जानकारी के लिए आभार। कृपा करके कोई भाई बताए कि कब्ज मिटाने के लिए शहद का उपयोग कैसे करे?

विशिष्ट पोस्ट

कोई तो कारण होगा, धर्म स्थलों में प्रवेश के प्रतिबंध का !!

अभी कुछ दिनों पहले कुछ तथाकथित आधुनिक महिलाओं ने सोशल मिडिया पर गर्व से यह  स्वीकारा था कि माह के उन  कुछ ख़ास दिनों में भी वे मंदिर जात...