सोमवार, 23 नवंबर 2009

बिना इन्टरनेट के हिंदी लिखने में सहायता करें

आज मुझसे सुश्री नेहा जी, जो अपना ब्लाग शुरु करना चाहती हैं, ने ई मेल द्वारा, बिना इंनटरनेट हिंदी लिख सकने की जानकारी चाही है। मेरी आप सब से गुजारिश है कि ऐसा सबसे सरल तरीका बताने का कष्ट करें, जिसमें सारे के सारे हिंदी के शब्द (संयुक्ताक्षर वगैरह) आसानी से लिखे जा सकें। जिससे हिंदी ब्लाग परिवार में एक और नया सदस्य शामिल हो सके।

10 टिप्‍पणियां:

बी एस पाबला ने कहा…

आप देख सकते हैं
http://blogbukhar.blogspot.com/2009/09/blog-post.html

इसकी टिप्पणियाँ भी देखिएगा

बी एस पाबला

राज भाटिय़ा ने कहा…

शर्मा जी आप Baraha गुगल सर्च मै लिखे ओर इसे Baraha ७,या नया Baraha ८ डाउन लोड करे, फ़िर आफ़ लाईन या आन लाईन जेसे चाहे बिलकुल सही हिन्दी लिखे

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक ने कहा…

यूनिकोड याद कर लें।

dhiru singh {धीरू सिंह} ने कहा…

बाराह की सलाह मिली थी मुझे . मै भी आपको सलाह दे रहा हूं .

Nirmla Kapila ने कहा…

कैफे हिन्दी डाउन लोड कर लें बस फिर उनिकोड मे लिखें धन्यवाद्

अनुनाद सिंह ने कहा…

सबसे अच्छा है कि आप आपरेटिंग सिस्टम के स्तर पर ही हिन्दी सुविधा को 'इनेबल' कर लें । यदि यह सम्भव न हो तो ही बरहा आदि सम्पादक उतारकर काम चलावें। यहाँ देखें-


कम्प्यूटर को हिन्दी-सक्षम बनाने हेतु उपलब्ध आई एम ई

http://pratibhaas.blogspot.com/2009/09/blog-post_24.html



हिन्दी लिखने के लिये सम्पादित्रों एवं अन्य साधनों के लिये यहाँ देखें-

विकिपीडिया:इंटरनेट पर हिन्दी के साधन

http://hi.wikipedia.org/wiki/हिन्दी_के_साधन_इंटरनेट_पर

अविनाश वाचस्पति ने कहा…

http://nukkadh.blogspot.com/2009/09/blog-post_22.html इसे भी आजमा सकते हैं।

Udan Tashtari ने कहा…

हम बारहा इस्तेमाल करते हैं.

संजय बेंगाणी ने कहा…

बरह या इंडिक आई एम ई का प्रयोग करें.

bhashaindia.com के डाउनलोड विभाग में देखें.

महावीर बी. सेमलानी ने कहा…

नेहाजी का सवाल आपका सहयोग एवम टिप्पणीयो के माध्यम से ब्लोगरो का समाधान अति सुन्दर
व्यवस्था.

मुन्नाभाई सर्किट की ब्लोग चर्चा