शनिवार, 26 दिसंबर 2020

बॉक्सिंग डे, जिसका बॉक्सिंग के खेल से कोई लेना-देना नहीं है

बॉक्सिंग डे को मनाने का कोई बहुत ही कठोर नियम नहीं है। कभी-कभी जब 26 दिसम्बर को रविवार पड़ जाता है तो  इसे अगले दिन अर्थात 27 दिसम्बर को और यदि बॉक्सिंग दिवस शनिवार को पड़ जाये तो उसके बदले में आने वाले सोमवार को अवकाश दिया जाता है। परन्तु यदि क्रिसमस शनिवार को हो तो क्रिसमस की सुनिश्चित छुट्टी सोमवार 27 दिसम्बर को होती है और बॉक्सिंग दिवस का सुनिश्चित अवकाश मंगलवार 28 दिसम्बर को होता है.......................!

भारत ने अब तक 14 बॉक्सिंग डे टेस्ट मैच खेले हैं और इनमें से दस में उसे हार का सामना करना पड़ा. उसने केवल एक मैच जीता है जबकि तीन अन्य ड्रॉ रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया में वह सात बॉक्सिंग डे टेस्ट का हिस्सा रहा और इनमें से पांच मैचों में उसे हार झेलनी पड़ी. जबकि दो मैच का कोई रिजल्‍ट नहीं निकला.
#हिन्दी_ब्लागिंग    
बॉक्सिंग डे, यानी अवकाश दिवस ! इसका बॉक्सिंग के खेल से दूर-दूर का भी संबंध नहीं है। इसे एक धर्मनिरपेक्ष उत्सव कहा जा सकता है। जो 26 दिसम्बर को मनाया जाता है। पर इस दिन कई देशों में तरह-तरह के खेलों की शुरुआत होने और मिलते-जुलते नाम की वजह से ऐसा लगता है कि शायद बॉक्सिंग के खेल से इसका नाता हो। जबकी ऐसा नहीं है ! ब्रिटेन और उसके शासित देशों में इसकी परंपरा रही है। जो अब अन्य जगहों पर भी फ़ैल गयी है।  पहले इस दिन क्रिसमस के दूसरे दिन  जरूरतमंदों, बेसहारा सर्वहारा लोगों के लिए आवश्यक वस्तुओं को डिब्बे में बंद कर चर्चों के सामने रख देने की परंपरा थी। जिससे किसी को किसी के सामने शर्मिंदगी का एहसास ना हो। पर समय के साथ-साथ अब उस परंपरा के साथ-साथ इसने खरीदारी के उत्सव का रूप ले लिया है। इस दिन लोग जम कर सामान खरीदते हैं इसलिए दुकानदार भी लुभावने प्रस्ताव पेश करने में पीछे नहीं रहते। एक तरह से यह दिन  शॉपिंग डे में तब्दील हो गया है।  

तक़रीबन रोमन काल से चली आ रही इस परिपाटी के बारे में कुछ ज्यादा स्पष्ट नहीं है, पर इस दिन हर जगह ग़रीबों, जरूरतमंदों को धन या अन्य दान दे कर उनकी सहायता करने का चलन रहा है। इस दिन चर्चों के बाहर जीवनोपयोगी आवश्यक वस्तुओं को डिब्बों में बंद कर उन्हें जरुरतमंद-बेसहारा लोगों के लिए रख दिए जाता था। इन्हीं के साथ वहीं कुछ खाली बॉक्स भी सेंट स्टीफेन की दावत के नाम पर कुछ रकम इकट्ठी करने के लिए रख दिए जाते थे। इन्हीं बॉक्सों या डिब्बों के लेन-देन के कारण इस दिन को बॉक्सिंग डे के नाम से जाना जाने लगा है। 

इसको मनाने का कोई बहुत ही अनिवार्य या कठोर नियम नहीं है। कभी-कभी जब 26 दिसम्बर को रविवार पड़ जाता है तो बॉक्सिंग दिवस अगले दिन अर्थात 27 दिसम्बर को और यदि बॉक्सिंग दिवस शनिवार को पड़ जाये तो उसके बदले में आने वाले सोमवार को अवकाश दिया जाता है। परन्तु यदि क्रिसमस शनिवार को हो तो क्रिसमस की सुनिश्चित छुट्टी सोमवार 27 दिसम्बर को होती है और बॉक्सिंग दिवस का सुनिश्चित अवकाश मंगलवार 28 दिसम्बर को होता है।
इस दिन कई खेलों के शुरू होने का चलन रहा है। उसी में क्रिकेट भी शामिल है। इस बार भी हम आस्ट्रेलिया के दौरे पर हैं और बॉक्सिंग डे पर ही, एक मैच से पीछे चल रही हमारी टीम को दूसरा टेस्ट मैच खेलना है। हमारा इस दिन खेले गए मैचों का रेकॉर्ड बहुत ही "गरीब" रहा है !  हमने अब तक इस दिन आस्ट्रेलिया के साथ आठ, द. अफ्रीका के खिलाफ पांच और न्यूजीलैंड के साथ एक मैच खेला है। जिसमें दो में ही जीत मिल पाई हैं ! नौ में हार तथा तीन बेनतीजा रहे हैं। इस बार अपने देश के क्रिकेट प्रेमी यही दुआ कर रहे हैं कि इस बार बॉक्सिंग दिवस पर खेले जाने वाले मैच में भारतीय टीम का डिब्बा गोल ना हो। वर्षों से हमारी टीम के साथ जुड़ा हुआ ''जिंक्स'' भी जाने वाले साल के साथ ही विदा हो। 
आमीन !!

31 टिप्‍पणियां:

सुशील कुमार जोशी ने कहा…

कुछ अलग सा। सुन्दर।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

हार्दिक आभार, सुशील जी

Kavita Rawat ने कहा…

बहुत अच्छी जानकारी

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' ने कहा…

आपकी इस प्रविष्टि् की चर्चा कल रविवार (27-12-2020) को   "ले के आयेगा नव-वर्ष चैनो-अमन"  (चर्चा अंक-3928)    पर भी होगी। 
-- 
सूचना देने का उद्देश्य है कि यदि किसी रचनाकार की प्रविष्टि का लिंक किसी स्थान पर लगाया जाये तो उसकी सूचना देना व्यवस्थापक का नैतिक कर्तव्य होता है। 
--   
हार्दिक शुभकामनाओं के साथ।  
--
सादर...! 
डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक' 
--

Sweta sinha ने कहा…

जी नमस्ते,
आपकी लिखी रचना आज शनिवार 26 दिसंबर 2020 को साझा की गई है......... "सांध्य दैनिक मुखरित मौन " पर आप भी सादर आमंत्रित हैं ....धन्यवाद! ,

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

कविता जी
बहुत दिनों बाद आगमन हुआ। आशा है सपरिवार स्वस्थ प्रसन्न होंगी

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

शास्त्री जी
हार्दिक आभार

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

श्वेता जी
सम्मिलित करने हेतु अनेकानेक धन्यवाद

Jigyasa Singh ने कहा…

उदाहरणों से सुशोभित , सुंदर, ज्ञानवर्धक, मनोहारी लेख..

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

जिज्ञासा जी
अनेकानेक धन्यवाद

सधु चन्द्र ने कहा…

सुंदर ।
कुछ अलग सी रचना।
सादर।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

सधु जी
अनेकानेक धन्यवाद

Virendra Singh ने कहा…

बढ़िया जानकारी। कुछ अलग हटकर पढ़ने को मिलता है तो अच्छा लगना स्वाभाविक है।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

विरेन्द्र जी
आपका सदा स्वागत है

Shantanu Sanyal शांतनु सान्याल ने कहा…

जानकारीपूर्ण आलेख - - प्रभावशाली लेखन।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

शांतनु जी
हार्दिक आभार

Jyoti Dehliwal ने कहा…

गगन भाई, बॉक्सिंग डे की बहुत ही रोचक जानकारी दी है आपने।

ज्योति सिंह ने कहा…

लेख पढ़ते हुए नई नई जानकारियां भी मिली, समय के अनुसार बहुत से नियम भी बदल जाते है, सुंदर ज्ञानवर्धक आलेख, धन्यबाद आपका

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

ज्योति जी
अनेकानेक धन्यवाद । स्वस्थ व प्रसन्न रहें।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

ज्योति सिंह जी
आपका सदा स्वागत है। सदा स्वस्थ व प्रसन्न रहें

Abhilasha ने कहा…

बेहतरीन रचना

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

अभिलाषा जी
"कुछ अलग सा" पर आपका सदा स्वागत है ।

कदम शर्मा ने कहा…

रोचक जानकारी के लिए आभार

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

कदम जी
अनेकानेक धन्यवाद

Amrita Tanmay ने कहा…

अजूबा संसार का सुंदर झलक । हार्दिक आभार एवं शुभकामनाएँ ।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

अमृता जी
अनेकानेक धन्यवाद

Chetan ने कहा…

बाॅक्सिंग और बाॅक्सिंग में फर्क बताने का शुक्रिया

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

चेतन जी
स्वागत है, हमेशा

Meena Bhardwaj ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक ने हटा दिया है.
Meena Bhardwaj ने कहा…

अत्यंत सुन्दर सृजन। आपको नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

मीना जी
हार्दिक आभार । आपको सपरिवार नव वर्ष की मंगलकामनाऐं

विशिष्ट पोस्ट

आसान नहीं होगा, माउंट एवरेस्ट का नाम बदल कर माउंट सिकदर करना

आजकल माउंट एवरेस्ट का नाम बदल कर माउंट राधानाथ करने की बात की जा रही है  ! अच्छी बात है। पर ऐसा होना क्या आसान काम है ! यह कोई देश की सड़क, प...