गुरुवार, 14 अक्तूबर 2010

अतिश्योक्ति ही सही, पर यदि आपको अपने देश से प्यार है तो यह आपको अच्छा लगेगा.

एक पर्यटक पूरी दुनिया घूमने निकला। घूमते-घूमते वह रोम के गिरजा घर जा पहुंचा। वहां उसने एक स्वर्ण जड़ित फोन देखा जिसके पास लिखा हुआ था, एक काल के एक हजार डालर। वह बड़ा अचंभित हुआ कि सिर्फ एक काल के इतने पैसे। उसने वहां पता किया तो उसे बताया गया कि यहां से स्वर्ग में सीधे बात हो सकती है इसीलिए इतनी मंहगी काल है। वहां से वह जर्मनी गया। वहां भी उसे वैसा ही फोन और कीमत दिखी। अमेरिका में भी वही हाल था। योरोप वगैरह घूम वह खाड़ी के देशों में गया तो वहां भी उसे ऐसी व्यवस्था दिखी। अब तो वह जगहों को छोड़ हर देश के धार्मिक स्थलों में ऐसे फोन खोजता फिरा और उसे आश्चर्य हुआ कि चाहे आस्तिक हो या नास्तिक, चीन हो या जापान, अफगानिस्तान हो या पाकिस्तान, चाहे रूस हो या अमेरिका, विज्ञान की तरक्की के कारण अब सब जगह यह सहूलियत मिलने लग गयी थी।

ऐसे ही घूमते-घूमते वह पर्यटक भारत भी आ तिरुपति जा पहुंचा। उसे जिज्ञासा हुई कि यह तो सब धर्मों को मानने वाला, ईश्वर में गहरी आस्था रखने वाला देश है देखें यहां सीधे स्वर्ग से बात करने की सहूलियत है कि नहीं।
मंदिर में जरा सी कोशिश में ही उसे फोन भी दिख गया। पर वह यह देख आश्चर्यचकित हो खड़ा रह गया क्योंकि वहां एक काल का सिर्फ एक रुपया लिखा हुआ था। ऐसा कैसे हो सकता है ? यही सोचता हुआ वह मंदिर के पुजारीजी के पास गया और बोला, सर दुनिया भर में स्वर्ग में सीधे बात करने के हजारों रुपये लगते मैनें देखे हैं, पर यहां सिर्फ एक रुपया लिखा हुआ है, क्या गल्ति से ऐसा हुआ है?
पुजारी मुस्कुराए और बोले, बेटा तुम भारत में हो, जो अपने आप में स्वर्ग है। सो यहां यह लोकल काल है इसीलिए एक रुपया लिखा हुआ है।

सच है प्रकृति की नियामतों से भरपूर ऐसी जगह और कहाँ है।

6 टिप्‍पणियां:

kmohan ने कहा…

agar kisi govt. office mei apaka kam bina liye diye ho jai to bahut achaa lagata hai.Usi prakar aaj apaka lekh pardkar bahut achaa laga.Regards

Udan Tashtari ने कहा…

सच ही है...लोकल काल ही कहलायेगी भारत से. :)

सुज्ञ ने कहा…

पधारिये!! पुण्यधरा पर
यही स्वर्ग है, धर्म भी यहां आकर आश्रय पाता है।
हिंसाप्रधान धर्म भी यहां शांति के संदेश बन जाते है।
धरा पर यदि कहीं स्वर्ग है तो यहीं हैं,यहीं हैं,यहीं हैं।

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत सुंदर शर्मा जी आप ने खुश कर दिया, धन्यवाद

उस्ताद जी ने कहा…

1/10

निरर्थक

santosh pandey ने कहा…

kya baat hai.badhiyan likha hai.