बुधवार, 17 सितंबर 2008

हल्का-फुल्का

जब आदमी की तबियत ठीक नहीं होती तो उसे खाने में परहेज़ करने को कहा जाता है। आज टिप्पणियों के चक्कर में परेशान दिमागों के लिए हल्का-फुल्का ही ठीक रहेगा शायद---------------------

गांधीजी के तीन बंदरों को तो सब जानते हैं। आज उनके नाम भी जान लिजिए। इन जापानी गुरुओं के नाम हैं - 1:- मिजारु {बुरा मत देखो}2:- मिकाजारु {बुरा मत सुनो}3:- माजारु {बुरा मत कहो}

बीस करोड़ में कोइ एक इंसान 115 साल या ज्यादा की उम्र पाता है।

स्वचालित कांच साफ करने वाले कार वाइपर का उपयोग सबसे पहले 1916 में किया गया था।

ज़ेबरा क्रासिंग का उपयोग सर्वप्रथम 1911 में अमेरिका में किया गया था।

दुनिया में सबसे पहले इजिप्ट में ताले का आविष्कार किया गया। यह एक लकड़ी का बोल्ट था जो एक खांचे में फ़िट होता था। चाबी के लिए लम्बे राड़ में एक खूंटी {पेग} लगी रहती थी, जिससे घुमा कर बोल्ट को खोला जाता था. 

हर मिनट करीब 6000 बार आकाशीय बिजली हमारी धरती से टकराती है।

आयरलैंड के सर ह्यु बीपर ने अपने दोस्तों, नोटिस एवं रसमैक हिवरटर के साथ मिल कर 1955 में "गिनिज़ बुक" का प्रकाशन शुरु किया था। 1974 में खुद इस पुस्तक का नाम भी गिनिज़ बुक में, अपनी दो करोड़ 39 लाख प्रतियों की बिक्री के कारण आ गया था। आज यह करीब 26 भाषाओं में प्रकाशित होती है।

एस्प्रीन का आविष्कार 1888 में जर्मनी में हुआ था।

150 टन की व्हेल का दिल एक मिनट में 7 बार, 3 टन के हाथी का एक मिनट में 46 बार, ड़ेढ़ किलो की बिल्ली का 240 बार तथा 8 ग्राम के शुद्र कोलटिट का 1200 बार धड़कता है।

4 टिप्‍पणियां:

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा ने कहा…

bahut badhiya janakriporn post. dhanyawad.

निरन्तर - महेंद्र मिश्रा ने कहा…

bahut badhiya janakriporn post. dhanyawad.

नीरज गोस्वामी ने कहा…

वाह जनाब आप ने तो हमारी आँखें खोल दी कितनी ही अनजान बातों का पता चला आज...शुक्रिया
नीरज

राज भाटिय़ा ने कहा…

बहुत ही अच्छी ओर ग्यान की बाते आज पता चली.
धन्यवाद

विशिष्ट पोस्ट

कोई तो कारण होगा, धर्म स्थलों में प्रवेश के प्रतिबंध का !!

अभी कुछ दिनों पहले कुछ तथाकथित आधुनिक महिलाओं ने सोशल मिडिया पर गर्व से यह  स्वीकारा था कि माह के उन  कुछ ख़ास दिनों में भी वे मंदिर जात...