बुधवार, 3 नवंबर 2010

एक मासूम सी जिज्ञासा

सभी जानते हैं कि पेड़-पौधे सूर्य की रौशनी में आक्सीजन छोड़ते हैं और रात को कार्बन डाई आक्साइड। इसी लिए रात को पेड़ों के नीचे सोने को मना किया जाता है।
पर जंगलों में और उन घने जंगलों में जहां दिन में भी सूर्य की किरणें बमुश्किल पहुँच पाती हैं वहाँ जंगली जानवर और सारे पशु-पक्षी जिन्हें आक्सीजन की जरूरत होती है, रात को कैसे रह पाते हैं? जब कि वहाँ कार्बन डाई आक्साइड अपनी पूरी प्र्चन्ड़ता से उपस्थित होती होगी।

मंगलमय समय आप सब के लिए खुशियाँ, समृद्धि और शान्ति ले कर आए।
मेरे लिए भी :-)

21 टिप्‍पणियां:

राज भाटिय़ा ने कहा…

पता नही जी . आप को भीदिपावली की शुभकामनाये

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) ने कहा…

सुन्दर वैज्ञानिक पोस्ट!
--
आपको और आपके परिवार को
ज्योतिपर्व दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ|

P.N. Subramanian ने कहा…

पीपल का पेड़ इसका अपवाद है.

चैतन्य शर्मा ने कहा…

आप को भी दिपावली की शुभकामनाये....सादर

anshumala ने कहा…

इसका जवाब तो कोई वैज्ञानिक ही दे सकता है | आप को दीपावली की शुभकामनाए |

शिवम् मिश्रा ने कहा…


बेहतरीन पोस्ट लेखन के बधाई !

आशा है कि अपने सार्थक लेखन से,आप इसी तरह, ब्लाग जगत को समृद्ध करेंगे।

आपको और आपके परिवार में सभी को दीपावली की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं ! !

आपकी पोस्ट की चर्चा ब्लाग4वार्ता पर है-पधारें

डॉ॰ मोनिका शर्मा ने कहा…

वैज्ञानिक विषय की बात की आपने जो जानने योग्य है....दिवाली की हार्दिक शुभकामनायें

महेन्द्र मिश्र ने कहा…

दीपावली पर्व पर हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं....

ZEAL ने कहा…

.

वायु में आक्सीजन ७९ प्रतिशत , तथा कार्बन डाई आक्साइड ०.०३ % होता है ।

जंगल में इतने पेड़ हैं जो दिन भर आक्सीजन निकालते हैं, तथा वहां वायु का प्रदुषण बिलकुल नहीं होता , इसलिए रात के समय भी आक्सीजन का प्रतिशत ही ज्यादा रहता है वहां, जो जानवरों के जिन्दा रहने के लिए काफी है।

.

cmpershad ने कहा…

बहुत मासूम जिज्ञासा :( दीपावली की शुभकामनाएं॥

अशोक बजाज ने कहा…

'असतो मा सद्गमय, तमसो मा ज्योतिर्गमय, मृत्योर्मा अमृतं गमय ' यानी कि असत्य की ओर नहीं सत्‍य की ओर, अंधकार नहीं प्रकाश की ओर, मृत्यु नहीं अमृतत्व की ओर बढ़ो ।

दीप-पर्व की आपको ढेर सारी बधाइयाँ एवं शुभकामनाएं ! आपका - अशोक बजाज रायपुर

Sunil Kumar ने कहा…

इसका उत्तर आप बताएं
दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएँ

हरकीरत ' हीर' ने कहा…

आपको जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक बधाइयाँ ....!!

निर्मला कपिला ने कहा…

आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनायें।

कविता रावत ने कहा…

आपको जन्मदिन की बहुत बहुत हार्दिक शुभकामनाएं...

संजय कुमार चौरसिया ने कहा…

आपको जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं

सतीश सक्सेना ने कहा…

अगर जील का जवाब ठीक नहीं है तो वे जरूर आक्सिजन मास्क लगते होंगे !शुभकामनायें

सतीश सक्सेना ने कहा…

जन्म दिन की शुभकामनायें स्वीकार करें !

Dr. Aparna ने कहा…

बिलकुल सच कहा। शुभकामनाएं।

Dr. Aparna ने कहा…

बिलकुल सच कहा। शुभकामनाएं।

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

@ZEAL
जहां तक मेरा ख्याल है हवा में आक्सीजन की नहीं नाईट्रोजन की मात्रा सबसे ज्यादा होती है तकरीबन 78 परसेंट। फिर भी एक बार चेक कर लें। धन्यवाद।

विशिष्ट पोस्ट

कोई तो कारण होगा, धर्म स्थलों में प्रवेश के प्रतिबंध का !!

अभी कुछ दिनों पहले कुछ तथाकथित आधुनिक महिलाओं ने सोशल मिडिया पर गर्व से यह  स्वीकारा था कि माह के उन  कुछ ख़ास दिनों में भी वे मंदिर जात...