शुक्रवार, 21 जून 2013

नमक के कुछ नमकीन उपयोग

दुनिया में हर चीज की अच्छाई और बुराई होती है। अब जैसे नमक को ही ले लें, हजारों-हजार साल से मनुष्य इस सस्ती प्रकृति-प्रदत्त नियामत का उपयोग करता आया है। पर आजकल अपनी अनियमित दिनचर्या के कारण खराब होती सेहत का दोष इसे भी मान मानव शरीर पर इसके दुष्प्रभाव का इतना प्रचार किया गया है की इसे लोग विष की तरह मानने लग गए हैं। पर ऐसा है नहीं।  अति तो हर चीज की खराब होती है और नमक भी इसका अपवाद नहीं है। सच्चाई यह है की इसकी एक संतुलित मात्रा हमारे शरीर के लिए अति आवश्यक है। यह तो रही शरीर की बात,  इसके अलावा भी रोजमर्रा के कामों में भी यह काफी काम की चीज है। आजमाएं इसके कुछ उपयोग -            

#  खाना बनाते समय या चिकनाई से कहीं आग लग जाए तो तुरंत उस पर नमक छिड़क दें। आग बुझ जाएगी। 

# मधुमक्खी या बर्र ने डंक मारा हो तो उस जगह को नाम कर नमक से धक् दें, आराम मिलेगा।

# अखरोट या बादाम जैसे सूखे मेवों का छिलका आराम से उतारने के लिए उन्हें घंटे भर के लिए नमक के पानी में डुबो दें, छिलका निकालने में आसानी होगी। 

# दरवाजों-खिड़कियों और चींटीयों के आने जाने के रास्तों पर नमक का छिड़काव कर दें, उनसे निजात मिल जाएगी।  

# अनचाही घास या पौधों से छुटकारा पाना हो तो उन पर नमक डाल कर  गरम पानी डाल दें, आपकी परेशानी तो दूर हो ही जाएगी वह भी बिना पर्यावरण को नुक्सान पहुंचाए।  

# यदि आपका  पालतू जूओं इत्यादि कीड़ों  से परेशान हो तो उसके बसेरे और उसकी उपयोग वाली चीजों को नमक मिले पानी से धो डालें। यदि घर में कारपेट वगैरह में कीड़ों का प्रकोप हो तो उस पर नमक छिड़क कर ब्रश कर दें।   

# गलती या जल्दबाजी में अंडा फर्श पर गिर जाए तो उस पर नमक डाल दें। 15-20 मिनट बाद आसानी से जगह साफ हो जाएगी। 

# कभी-कभी प्रेस करने वाली आयरन पर दाग पड जाते हैं, इनको दूर करने के लिए वैक्स-पेपर पर नमक डाल इस पर प्रेस घुमाएं, दाग मिट जाएंगे। 

# ओवन में कुछ गिर गया ह तो उस पर नमक डाल कुछ गरम कर दें। जगह साफ हो जाएगी।  

# चाय, कॉफी के प्यालों में दाग पड  गए हों तो उनमें नमक और बर्फ के टुकडें डाल आधा घंटा छोड़ दें, फिर धो डालें, कप नए जैसे हो जाएंगे।    

# मोमबत्ती को गाढे नमकीन पानी में कुछ घंटे तक भिगो कर सुखा कर रख लें। वह बिना ज्यादा पिघले देर तक जलेगी।  



10 टिप्‍पणियां:

ताऊ रामपुरिया ने कहा…

वाह, ये तो नमक के वाकई उपयोगी नुस्खे दे दिये आपने, आभार.

रामराम.

के. सी. मईड़ा ने कहा…

सही कहा आपने अति हर चीज की खराब होती है।...
और नमक के जो उपयोग आपने बताए है आजमा के बताएंगे..

सुज्ञ ने कहा…

उपयोगी नुस्खे……नई जानकारी

Vivek Rastogi ने कहा…

बहुत सारी नई बातें पता चलीं नमक के बारे में

P.N. Subramanian ने कहा…

बहुत ही उपयोगी जानकारी. आभार. अभी दो दिनों पूर्व एक पहाड की गुफाओं के जैन मंदिरों में गया था. पहाडी की चोटी पर भी चढ गए थे. दूसरे दिन पिंडलियों में भयानक दर्द होने लगा और चलना दू भर हो गया. माताजी ने सुझाया कि बाल्टी में गरम पानी ले लो और नमक मिला दो. बाल्टी के अन्दर दोनों पाँव डाल कर पंद्रह मिनट रखे रहो. वैसा ही किया और आराम मिल गया.

ब्लॉग बुलेटिन ने कहा…

ब्लॉग बुलेटिन की आज की बुलेटिन इस दुर्दशा के जिम्मेदार हम खुद है - ब्लॉग बुलेटिन मे आपकी पोस्ट को भी शामिल किया गया है ... सादर आभार !

expression ने कहा…

वाह....
बढ़िया पोस्ट....
लाजवाब नुस्खे.

शुक्रिया
अनु

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

इनमें सुब्रमनियन जी का नुस्खा भी जोड लें। नमक की गरम पोटली या नमक मिले गरम पानी का सेक दर्द का बहुत कारगर इलाज है।

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

उपयोगी सुझाव..

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

गुनगुने पानी मे नमक डाल गरारे करने से फ्लू और टांसिल में काफी लाभ होता है।