रविवार, 22 नवंबर 2015

रेत की नदी का सच

नदी की ढलान के कारण बर्फ पर सवार होकर रेत ने इस अद्भुत दृश्य को अंजाम दिया। इस तरह की घटना पहले कभी भी देखी या सुनी नहीं गयी थी, इसीलिए  लोगों की उत्सुकता चरम पर पहुँच गयी थी। जो  भी हो प्रकृति का यह करिश्मा अपने-आप में अद्भुत, अनोखा,  विस्मयकारी, रोमांचक और रहस्यमय तो है ही... 

पिछले कुछ दिनों से जगह-जगह रेत की एक बहती हुई नदी के विडिओ देखे-दिखाए जा रहे हैं। 16 नवंबर को चलन में आने वाले विडिओ में दिखने वाला कौतुक पहली  नजर में अद्भुत लगता भी है। पर खोज-खबर लेने पर पता चलता है कि सच्चाई कुछ और ही है। दरअसल दुनिया के सूखे इलाकों में शुमार ईराक के इस हिस्से पर मौसम के एक अद्भुत करिश्मे ने एक  भयंकर बर्फीले तूफान को जन्म दिया जिसने कहर बरपा कर रख दिया था। यहां बरसने वाले "ओलों" का आकार गोल्फ बाल के बराबर था। ईराक के साथ-साथ इसने इजिप्ट, इज़रायल, जॉर्डन और सऊदी अरब में भी जानो-माल को भारी नुक्सान पहुंचाया है।  हालात इतने बेकाबू हो गए थे कि वहां सरकार को आपातकाल लागू करना पड़ा।  
"वायरल" होने वाली विडिओ क्लिप में ऐसा लगता है जैसे रेत की नदी पूरे जोशो-खरोश से बही जा रही हो। इसी को देखते हुए इसका नामकरण भी "रेत की नदी" के रूप में कर दिया गया। इतना ही नहीं उसके किनारे बैठे एक इंसान को भी दर्शाया जा रहा है जो मजे ले लेकर रहस्य को और भी बढ़ा रहा है। जबकि असल में यह बर्फ के टुकड़ों और रेत का घालमेल है। जहां यह करिश्मा हुआ वह एक नदी का रास्ता है, उस नदी का नाम "रब-अल खाली" है, जो ज्यादातर खाली यानी सूखी रहती है। उसी नदी की ढलान के कारण बर्फ पर सवार होकर रेत ने इस अद्भुत दृश्य को अंजाम दिया।इस तरह की घटना पहले कभी भी देखी या सुनी नहीं गयी थी, इसीलिए  लोगों की उत्सुकता चरम पर पहुँच गयी थी।  
जो  भी हो प्रकृति का यह करिश्मा अपने-आप में अद्भुत, अनोखा,  विस्मयकारी, रोमांचक और रहस्यमय तो है ही, उसे सलाम है। 

3 टिप्‍पणियां:

Kavita Rawat ने कहा…

रेत की नदी का सच प्रस्तुतिकरण हेतु आभार!

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

प्रकृति को नमन है

Suchitra singh Thakur ने कहा…

Amazing