शुक्रवार, 22 मई 2009

क्या हनुमान जी के और भी पांच भाई थे ?

पिछले दिनों हिमाचल यात्रा के दौरान एक आश्चर्य जनक जानकारी मिली। एक जगह कथा के दौरान कथावाचक पंडितजी ने हनुमानजी के पांच छोटे भाईयों का जिक्र किया। जिनके नाम उन्होंने क्रमश: - मतिमान, श्रुतिमान, केतुमान, गतिमान और धृतिमान बताये। इसके साथ ही यह भी बताया कि वह सब विवाहित थे। पंडित जी की विद्वत्ता पर शक नहीं किया जा सकता था, कथा और भाषा पर उनकी पकड़ अद्भुत थी। पर उनसे अपनी शंका का समाधान करने का अवसर और समय नहीं मिल पाया। हनुमानजी के इन अनुजों का मैंने आज तक कभी भी कहीं भी जिक्र न सुना है न पढा है। ऐसा क्यूं है कि कहीं भी इनके सहयोग का राम कथा में उल्लेख नहीं है। अब सारे ब्लागर भाईयों से ही यह उम्मीद है कि यदि किसी को इस बारे में कुछ जानकारी हो तो उसे हमारे बीच बांटे, जिससे इस शंका का समाधान हो सके। इंतजार रहेगा।

15 टिप्‍पणियां:

निरन्तर- महेन्द्र मिश्र ने कहा…

बहुत बढ़िया जानकारी दी है ....

दीपक शर्मा ने कहा…

अद़्भुत जानकारी.....

संगीता पुरी ने कहा…

अच्‍छी जानकारी है .. धन्‍यवाद।

दिनेशराय द्विवेदी Dineshrai Dwivedi ने कहा…

किसी चैनल वालों को बताएँ, वे उन के रहने का स्थान तलाश लाएंगे।

P.N. Subramanian ने कहा…

रामायण में भी भिन्नताएं हैं. आप गूगल में सर्च कर देखें. थाईलैंड का रामायण, इंडोनेशिया का रामायण या कम्बोडिया का रामायण. शायद एक जगह "राम केन" कहा गया है. उनकी कथाएँ भी अजीबो गरीब हैं. बहुत सालों पहले हमने सेव कर रखा था लेकिन अब नहीं रहा.

Udan Tashtari ने कहा…

हम तो खुद पहली बार आपकी कलम से जान रहे हैं यह गुढ़ रहस्य!!

Kapil ने कहा…

अदभुत, बहुत बढि़या। हमारे समाज का आज का बहुत अहम और केन्‍द्रीय सवाल है। वैसे आपको यह भी पता लगाना चाहिए कि क्‍या हनुमानजी अभी जिन्‍दा हैं। लोग कहते तो हैं।

संजय तिवारी ’संजू’ ने कहा…

हम तो खुद पहली बार आपके ब्लाग पर यह जानकारी मिली बहुत बढ़िया जानकारी दी है ....

राजीव जैन Rajeev Jain ने कहा…

पहले कभी सुना नहीं

अनिल कान्त : ने कहा…

nayi taza khabar

Gagan Sharma, Kuchh Alag sa ने कहा…

अनिल जी,
यह खबर नहीं प्रश्न है।

Ratan Singh Shekhawat ने कहा…

हमें तो यह जानकारी पहली बार मिल रही है !

Rajat Narula ने कहा…

its an interesting information and brilliant blog...

गगन शर्मा, कुछ अलग सा ने कहा…

कपिल जी, मैं ही क्यूं आप भी क्यूं नहीं?

Vineet Verma ने कहा…

ये हैं हनुमान जी के 5 सगे भाई…. http://www.hindi.pardaphash.com/news/know-about-5-brothers-of-hanumanji/469686.html